Popular Posts

Wednesday, December 22, 2010

समझदारी की बातें

आज शेख़चिल्ली अपना मोबाइल चार्ज होने के लिए घर पर छोड़ कर कहीं चले गए। हम अस्तंजा फ़रमा रहे थे कि अचानक मोबाइल की बेल बजी। हम फ़ौरन साफ़ और पाक होकर मोबाइल की तरफ़ लपके कि शायद दूसरी तरफ़ से हमारी होने वाली बहू की आवाज़ ही सुनाई दे जाये लेकिन हाय रे क़िस्मत! पता चला कि दूसरी तरफ़ से दो लतीफ़े भेजे गये हैं। आप भी इन्हें पढ़कर उसी तरह अपना माथा ठोकियेगा जैसे कि हमने ठोका था। 
                                                       
                                                         समझदारी की बातें
1. एक साहब का क्रेडिट कार्ड चोरी चला गया लेकिन उन्होंने पुलिस में शिकायत नहीं की।
कारण ?
कारण यह था कि चोर उनकी बीवी से कम ख़र्च कर रहा था।

2. एक पागलख़ाने में एक पागल बीड़ी को बिना जलाए ही पी रहा था। यह देखकर दूसरे पागल ने पूछा, ‘तुम्हारी बीड़ी से धुआं तो निकल ही नहीं रहा है ?‘
पहले पागल ने जवाब दिया,‘कर दी न पागलों वाली बात, यही सीएनजी बीड़ी है।‘

5 comments:

ZEAL said...

cool jokes !
thanks.

एस.एम.मासूम said...

शेखचिल्ली के बाप साहब लगता है आप ने मेरी नयी पोस्ट पढ़ ली. joke को moblie से  sms द्वारा भी भेजना सीख लें.आप बड़े ब्लोगर जल्द बन जाएंगे और ७०-८- टिप्पणी  तो अवश्य रूज़ मिल जाया करेंगी.

Arvind Mishra said...

हा हा मजेदार -नए जमाने के जोक्स !

DR. ANWER JAMAL said...

@ Sister Divya ji !
कृपया
मेरी नई पोस्ट देखेंऔर बताएं कि जनाब अरविन्द मिश्र की राय से आप कितना सहमत हैं और इस पोस्ट में आप मुझे जिस रूप रंग में देख रहे हैं , क्या यह बंद ज़हन की अलामत है ?

http://ahsaskiparten.blogspot.com/2010/12/shades-of-sun.html

Minakshi Pant said...

good joke